आज का मुख्य खबर

Odisha

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सुपर साइक्लोन एम्फन से सफल मुकाबला करने में यहां के लोगों, प्रशासन व मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ए​वं उनकी टीम की सराहना करते हुए तूफान से हुए नुकसान से निपटने के लिए अग्रिम तौर पर 500 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। एम्फन से प्रभावित प्रदेश के विभिन्न क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण कर, मुख्यमंत्री नवीन पटनायक एवं राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा करने के बाद उक्त राशि की घोषणा की है। 

बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात एम्फन ने भारत और बांग्लादेश को व्यापक रूप से प्रभावित किया है। कई लोगों की जान गई है और बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। पिछले 20 सालों में यह सबसे भीषण चक्रवात है, जिसने सुपर साइक्लोन का रूप ले लिया। यह बुधवार को भारतीय तटीय इलाके से टकराया। एम्फन से पहले ओडिशा में आए सुपर साइक्लोन ने 1999 में हजारों लोगों की जान ली थी और बड़ी संख्या में लोग बेघर हो गए थे। भारत और बांग्लादेश में चक्रवातों का पुराना इतिहास रहा है। इनके कारण कई बार तटीय आबादी को जबरदस्त नुकसान झेलना पड़ता है।

ओडिशा में कोरोना वायरस की वजह से लगभग 15,000 क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए हैं, जहां बाहर से आ रहे लोग आइसोलेशन में ठहर रहे हैं। यहां इनके लिए योगा और मेडिटेशन जैसे COVID वॉलिंटियर सर्टिफिकेट कोर्स के साथ-साथ अन्य गतिविधियों की व्यवस्था की गई है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, दो लाख से अधिक लोग मंगलवार तक ओडिशा लौट आए हैं। इनमें ज्यादातर प्रवासी मजदूर हैं। उन्हें राज्य भर में स्थापित लगभग 15,000 क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। वे यहां 14 से 21 दिन तक रहेंगे।