थूक से भी फैल सकता है कोरोना ।

Uncategorized

नई दिल्ली
जोर-जोर से बोलने के दौरान मुंह से निकलने वाले ड्रॉपलेट्स (थूक) भी कोरोना वायरस फैला सकता है। भाषण देने या चिल्लाकर बात करने से संक्रमित इंसान के मुंह से निकलने वाले ड्रॉपलेट्स 8 से 14 मिनट तक हवा में ठहर सकते हैं और इस दौरान इसके संपर्क में आने वाले लोग कोविड-19 से संक्रमित हो सकते हैं। इसलिए डॉक्टरों का कहना है कि घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना जरूरी है, ताकि अगर ऐसे कण हवा में मौजूद हों तो आप उससे बच सकते हैं।
‘थूक से भी फैल सकता है कोरोना’
कंफेडरेशन ऑफ मेडिकल असोसिएशन ऑफ एशिया एंड असिनिया के प्रेजिडेंट डॉ. के.के अग्रवाल ने नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डायबिटीज एंड डाइजेस्टिव एंड किडनी डिजीज एंड पीएनएएस की स्टडी का हवाला देते हुए कहा कि यह सच है कि जब कोई इंसान जोर से बोलता है तो कोरोना वायरस हवा में फैल सकता है। बोलने के दौरान मुंह से निकलने वाले ड्रॉपलेटस हवा में रहते हैं। इसलिए घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना जरूरी है। उन्होंने कहा कि कोविड का वायरस को लेकर रोज नई नई बातें सामने आ रही हैं। अभी तक यह माना जाता रहा है कि यह वायरस हवा में नहीं फैलता है, लेकिन अब यह भी कहा जा रहा है कि यह वायरस कुछ देर के लिए हवा में रह सकता है।

✍️रोहित नंदन मिश्र