लॉकडाउन में फंसे मजदूर, तीर्थ यात्री, पर्यटक और छात्रों की घर वापसी के लिए खुला रास्ता, गृह मंत्रालय ने जारी किया नया आदेश

Delhi State पर्यटन

लॉकडाउन में फंसे मजदूर, तीर्थ यात्री, पर्यटक और छात्रों की घर वापसी के लिए खुला रास्ता, गृह मंत्रालय ने जारी किया नया आदेश

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लगे लॉकडाउन के दौरान विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों, तीर्थ यात्रियों, पर्यटकों और छात्रों को आखिरकार राहत मिल गई है. गृह मंत्रालय ने बुधवार को नया आदेश जारी कर प्रोटोकाल का पालन करते हुए घर वापसी की छूट दी है.गृह सचिव की ओर से जारी आदेश में पूर्व में जारी आदेशों में संशोधन करते हुए डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के क्लॉज 17 के सब क्लॉज (iv) में संशोधन करते हुए मजदूरों, तीर्थ यात्रियों, पर्यटकों और छात्रों को घर जाने की छूट दी है. इसके लिए राज्य सरकारों को इन्हें भेजने और वापसी के लिए नोडल अथॉरिटी तय करने के साथ मानक बनाने को कहा है. नोडल अथॉरिटी अपने राज्य में फंसे ऐसे लोगों का पंजीयन करेगी.फंसे हुए लोगों के एक राज्य से दूसरे राज्य की इच्छा जाहिर करने पर दोनों राज्य आपस में चर्चा कर सड़क के जरिए लाने ले जाने पर सहमत होंगे. जाने वाले व्यक्ति की स्क्रीनिंग के बाद असंक्रमित व्यक्ति को जाने की छूट दी जाएगी. लोगों को लाने ले जाने के लिए बस का इस्तेमाल किया जाएगा. इन बसों को सेनिटाइज कर लोगों को बिठाने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा.एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के दौरान बीच में पड़ने वाले राज्य बसों को जाने की अनुमति देंगे. वहीं लोगों के राज्य में पहुंचने पर स्थानीय स्वास्थ्य अथॉरिटी जांच करने के बाद होम क्वारेंटाइन में रखेगी, और जरूरी हुआ तो ऐसे लोगों को संस्थागत क्वारेंटाइन में भी रखा जाएगा. इसके अलावा समय-समय पर ऐसे लोगों के स्वास्थ्य की जांच भी की जाएगी.