हर एक जानदार शख्स को मौत का मजा चखना है÷कलीम अशरफ नोमानी

अम्बेडकरनगर।लोरपुर ताज़न मोहल्ला इस्लामाबाद में मरहूम मोहम्मद इश्तियाक उर्फ़ सलमान के ईसाले सबाब के लिए एक ताजियाती मजलिस का आयोजन किया गया। मजलिस की शुरुआत तिलावते कुरान ए पाक से किया गया ,तथा शायरे इस्लाम गुफरान लोरपुरी ने मनकबत के आसार पेश किए। तथा वही तकरीर को संबोधित करते हुए हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो ताला अलेही वसल्लम पर रोशनी डालते हुए हजरत मौलाना कलीम अशरफ नोमानी ने कहा , की हर एक जानदार शख्स को मौत का मजा चखना है।

इसलिए हम सभी को चाहिए कि गुनाहे कबीरा व गुनाहे सबीरा से बचने के लिए हम सबको नमाज पढ़ना चाहिए और मग़फ़िरत के लिए अल्लाह से दुआ करनी चाहिए। तथा मजलिस का समापन सलातो सलाम से किया गया। इस मौके उपस्तिथि ,नबी सरवर ,रियाज़ अहमद ,अजमत अली, मास्टर मोहम्मद हनीफ, रसीद, नसीम, असलम, सरदार,शमशुद्दीन, आदि लोग मौजूद रहे।

ब्यूरो रिपोर्ट@मोहम्मद इसराइल