उत्तर प्रदेश रायबरेली लखनऊ

कांग्रेस विधायिका अदिति सिंह पर प्राणघातक हमला

-जिला पंचायत सदस्य पर जानलेवा हमला,भर्ती कई सदस्यों का अपहरण 

-एमएलसी दिनेश सिंह के करीबी शिवा सिंह की हत्या

रायबरेली। जनपद की कानून व्यवस्था इस तरह से चरमरा गई कि खून की प्यासी बन गई और जिला प्रशासन की चूक से जिले मे मंगलवार का सारा दिन गैगवार मे तब्दील हो गया चारो तरफ मारपीट हवाई फायरिंग अपहरण हत्या आदि से आम जनमानस थर्रा गया वही जिला प्रशासन के खिलाफ कांग्रेस व सपा मैदान मे उतर कर एसपी डीएम सहित सूबे के मुखिया आदित्य नाथ के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे यह माहोल उस समय हुआ जब तारीख के मुताबिक जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह के खिलाफ आविश्वास प्रस्ताव पत्र लेकर 31 जिला पंचायत सदस्य मतदान करने जिला पंचायत सभागार मे दाखिल होने के लिए जा रहे थे ताबड़तोड़ घटी घटनाओ से जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ पारित अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान स्थगित कर दिया गया है यही नहीं जिले में हुए खूनी खेल की सूचना जैसे ही महानगर पहुंची कि वहां से आईजी एसके भगत व कमिश्नर ने जिले का जायजा लिया है बताते  बताते चलें कि जिला पंचायत अध्यक्ष पद के खिलाफ 31 पंचायत सदस्यों द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव का मामला दूसरी बार भी फिस्स हो गया है मंगलवार को इस प्रस्ताव पर वाद विवाद व मतदान की तारीख घोषित होने के बावजूद मारपीट तोड़फोड़ हमला फायरिंग और अपहरण हत्या के कारण अविश्वास प्रस्ताव पत्र की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी और जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने तत्काल प्रभाव से व्यवस्था दी कि मतदाताओं के समय पर न आने से मतदान स्थगित किया जाता है उन्होंने इस संबंधित नोटिस भी चस्पा करवा दिया है।

दूसरी तरफ इस घटना को लेकर जिले भर में गहमागहमी का माहौल रहा जिला पंचायत सदस्यों ने इस घटनाक्रम के लिए सीधे जिला प्रशासन न भाजपा नेता एमएलसी दिनेश सिंह सहित उनके भाइयों व अन्य लोगो को जिम्मेदार ठहराया है डीएम नेहा शर्मा द्वारा अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के लिए मंगलवार की तारीख तय की थी किसी अप्रिय घटना की आशंका से प्रशासन ने जिला पंचायत को चारों तरफ से घेराबंदी कर दिया था माहौल ऐसा लग रहा था मानो शहर के अंदर कर्फ्यू लगा दिया गया है सुबह से ही सैकड़ों की संख्या में हथियारबंद पुलिस चहुतरफा और गैर जनपद की पुलिस चारों तरफ जाल बिछा दिया था बताया जाता है कि लखनऊ हाईवे की तरफ से कई जिला पंचायत सदस्य अपने वाहनों से आ रहे थे इसी दौरान उन पर अराजक तत्वों ने जानलेवा हमला कर दिया जिसमें सदर विधायक आदित्य सिंह की गाड़ी पर भी हमला किया गया हालांकि वह बाल-बाल बच गई लेकिन उनकी गाड़ी पूर्ण तरह से छति ग्रस्त हो गई है इस पूरे घटनाक्रम को एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह सहित उनके भाइयों पर आरोप आ गया है विधायका आदित सिंह सहित घायल जिला पंचायत सदस्य राकेश अवश्थी ने हरचंदपुर थाने पर एमएलसी सहित उनके भाइयों व अन्य लोगो के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया है।

इन्सेट-

अब गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं : अखिलेश सिंह 

रायबरेली पूर्व सदर विधायक अखिलेश सिंह ने इस घटना पर गहरा आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि इस तरह की गुंडागर्दी और अत्याचार अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा उन्होंने कहा कि जिले की पुलिस पूरी तरह से निष्क्रिय हैं जिसके चलते जिले में इस तरह का आतंक होता रहा है पूर्व विधायक घटना की सूचना पर घायलों का हालचाल लेने जिला अस्पताल पहुंचे श्री सिंह ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि मैंने ढाई दशक तक जिले में विधायक के रुप मे जनता की सेवा की और जनता का दिल जीता है कभी इस तरह का कायराना हरकत नहीं देखी और ना ही किया है उन्होंने कहा कि इस तरह की हरकत करने वालों को सबक जरूर मिलेगा उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में हिंसा का स्थान नहीं है जो कुछ भी हुआ है वह सरासर गलत है और इसका खामियाजा जिम्मेदार लोगों का ही पड़ेगा।

इन्सेट-

…और जब जिला प्रशासन के खिलाफ सड़को पर उतरे सपाई कांग्रेसी

रायबरेली, कांग्रेस विधायक अदिति सिंह के ऊपर जानलेवा हमला व जिला पंचायत  अध्यक्ष राकेश अवस्थी की मरणासन्न की सूचना मिलते ही समाजवादी पार्टी व कांग्रेस के तमाम पदाधिकारी सहित विधायक सड़कों पर उतरकर भाजपा के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे शहर के डिग्री कालेज  चौराहे पर लगभग दो घंटे तक विरोध प्रदर्शन चलता रहा जिसके बाद सभी सफाई व कांग्रेसी जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से मिले।
इन्सेट-
किसी भी हमले में पंचवटी परिवार का हाथ नहीं : दिनेश प्रताप सिंह 
रायबरेली, भाजपा नेता व एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि वह किसी भी हमले में दोषी नहीं है उन पर लगाए जा रहे आरोप बेबुनियाद हैं उन्होंने मीडिया से कहा है कि वह और उनके चारों भाई व भाजपा के तमाम पदाधिकारी सुबह से ही अपने आवास पंचवटी पर मौजूद रहे हैं मीडिया वालों ने जब सवाल किया कि कांग्रेस विधायक आदित्य सिंह पर हमला होने का आरोप आप पर लगाया जा रहा है तो उन्होंने कहा कि आदिति सिंह मेरी पुत्री के समान है मेरे द्वारा ऐसा कृत्य कभी नहीं किया जा सकता है और मैं भाजपा का नेता हूं वह कांग्रेस की विधायक का है आरोप लगाना उनके लिए लाजमी है।
इन्सेट-
हमले की रिपोर्ट दर्ज 
रायबरेली जिला पंचायत सदस्यों पर हुए जानलेवा हमले की प्रथम सूचना रिपोर्ट घायल पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी की तहरीर पर हरचंदपुर थाने में दर्ज कराई गई है वहीं एक तरफ कांग्रेस विधायक अदिति सिंह की लिखित तहरीर पर एमएलसी सहित अन्य लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है इस रिपोर्ट में एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह व उनके भाइयों तथा साथियों के ऊपर आरोप लगाया गया है पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
इन्सेट-
एमएलसी के करीबी रहे शिवा सिंह की हत्या 
रायबरेली, एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह के करीबी रहे शिवा सिंह मझिगवां थाना हरचंदपुर को अराजक तत्वों ने पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया जिसे आनन-फानन जिले के बहुचर्चित अस्पताल सिमहैंश लाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया बताया जाता है कि शिवा सिंह के पिता पूर्व प्रधान रह चुके हैं और शिवा सिंह एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह का करीबी रहा है घटना हरचंदपुर वा महाराजगंज रोड पर की बताई जा रही है पुलिस पूरे मामले में छानबीन करने में जुटी है।
इन्सेट-
जाम के झाम में फंसा रहा आम जनमानस 
रायबरेली, जिला प्रशासन  की चूक और अविश्वास प्रस्ताव को लेकर जिले भर में ताबड़तोड़ हुई वारदातों के बाद जिले की सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा वही शहर के बीचोबीच आम जनमानस जाम से जूझता रहा डिग्री कॉलेज चौराहा से लेकर जिला अस्पताल चौराहा पुलिस लाइन सिविल लाइन चारों तरफ आम जनमानस जाम में फंसा रहा तमाम रास्तों को पुलिस ने रोक दिया था जिससे एंबुलेंस सहित स्कूल के वाहनों को घूम कर जाना पड़ा यही नहीं कुछ वाहनों को तो चिलचिलाती धूप में घंटों इंतजार करना पड़ा।