उत्तर प्रदेश उन्नाव

बरसात ने खोली स्वच्छ भारत अभियान की पोल, सड़के व नालियाँ कीचड़, गंदगी मे तब्दील!

Ⓜ *Ⓜ मानवाधिकार मीडिया सच आप तक उन्नाव*

*बरसात ने खोली स्वच्छ भारत* *अभियान की पोल, सड़के नालियां* *हुई गंदगी कीचड़ मे तब्दील!*

*गदन खेड़ा उन्नाव* सड़कों के गड्ढे इसलिए मुक्त नहीं हो रहे हैं क्योंकि कीचड़ में ही कमल खिलता है। जुलाई में शुरू हुई बारिश से बस्ती की रोडो की दुर्दशा इतनी खराब हो गई है, की इस पर पैदल चलना मुश्किल हो गया है। पानी की निकासी और सफाई की उचित व्यवस्था न होने से गलियों में कीचड़ ही कीचड़ भर गया है। इससे लोगों का बाहर निकलना तो दूर की बात है, घरों में रहना भी दुश्वार हो गया है । यह नजारा है उन्नाव स्थित गदनखेड़ा मलिन बस्ती की बस्ती की गलियों की स्थित बदहाल है। स्कूली बच्चे कीचड़ में होकर स्कूल जा रहे है! ब्लॉक हो चुकी नालियां में जलभराव, घरों में घुसते पानी को लेकर सभी बस्ती के लोग आक्रोशित है। सड़के गड्ढों मे तब्दील हो चुकी है! कीचड़ से पचपचती हुई नालिया है । जो स्वच्छ भारत अभियान की पोल खोल रही है! विकास कार्यों में जमकर हुए बंदरबाट की भी हकीकत सबके सामने है। गाँव की गलियों में भयंकर कीचड़ में चार पहिया, थ्री व्हीलर, बाइक सहित आदि गाड़ियां फंस जाती है। जल जलभराव व कीचड़ से यहा के नागरिकों का रहना मुहाल है। ग्रामीणों की माने तो वार्ड के सभासद से कई बार बस्ती की सड़क और नालियों के बारे मे बात की गई मगर हर बार सभासद बात को सुनकर अनसुना कर देता है! लोगो द्वारा *बातचीत मे मालूम हुआ है कि आज से करीब 2 साल पहले बस्ती की नाली का पुनर्निर्माण व नवीनीकरण के लिए बनवारी सोनकर के दरवाजे से बाबूलाल मेट के दरवाजे तक खुदाई की गई थी! तब से आज तक नाली निर्माण का कोई भी कार्य नहीं हुआ नाली का कार्य वैसे ही खुदाई करके छोड़ दिया गया!* इसके बाद अभी करीब 6 महीने पहले अमृत योजना के तहत बस्ती की सड़को की भी खुदाई करके वाटर लाइन डालने का कार्य किया गया! सड़को व नलियों की खुदाई होने से बरसात के मौसम की वजह से बस्ती की सड़के व नालिया कीचड़ मे तब्दील हो गई है! लोगो ने कई बार सदर विधायक, सांसद जी व नगर चेयरमैन को इसकी सूचना दी है मगर कोई भी बस्ती की तरफ ध्यान देने को तैयार नहीं! *दोस्तो एक कहावत है चिराग तले अँधेरा* यह कहावत यंहा पर सटीक बैठती है क्योकि बस्ती के ठीक सामने माननीय सांसद श्री साक्षी जी महाराज का साक्षी धाम कार्यालय बना हुआ है! बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि माननीय जी की नजर इस बस्ती की तरफ नहीं जाती!

रिपोर्ट :- रोहित गौतम
मानवाधिकार मीडिया उन्नाव
9129428987