अन्य उत्तर प्रदेश देवरिया

खुले व जर्जर हालत मे लटक रहे तार दे रहे मौत को दावत

लार।अंडरग्राउंड लाइन बिछाने के बाद भी विद्युत व्यवस्था दुरुस्त नहीं हो पाई है। अब भी नई बस्ती इंदिरा नगर लार में खुले तार जर्जर हालत में झालरों की तरह लटक रहे हैं। इससे कभी भी हादसा होने से इंकार नहीं किया जा सकता है। मोहल्ला न्यू बस्ती में केबल टूट जाने से मोहल्लेवासी डर गए। सूचना देने पर बिजली बंद कराई तब कहीं जाकर राहत मिली।

शहरी उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली आपूर्ति मुहैया कराने के लिए बिजली विभाग द्वारा तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। इनमें विभाग ने ट्रांसफार्मरों की क्षमता बढ़ाने की भी व्यवस्था की है। बिजली की चोरी रोकने के लिए अंडरग्राउंड केबिल बिछाई जा रही है, बंच केबिल भी खंभों पर बिछाई जा रही है। लेकिन, शहर में मोहल्ला न्यू वस्ती में अब तक वर्षों पुराने बिजली के तार घरों पर झूलते नजर आ रहे हैं, जिससे कभी भी हादसा होने से इंकार नहीं किया जा सकता है। जहां पर विद्युत के जर्जर तार अधिकांश गलियों में लटके नजर आ रहे हैं। कुछ तारों की स्थिति काफी खराब हो गई है, उन्हें खंभे से बांध कर काम चलाया जा रहा है।

तार को कई स्थानों पर जोड़ा गया है। तब जाकर तारों को खंभों तक पहुंचाया जा रहा है। इसके साथ ही यहां पर मुख्यमार्ग में कुछ स्थानों पर जमीन से लगभग आठ फिट की ऊंचाई पर तार लटक रहे हैं, जिससे राहगीरों को गलियों से देखकर निकालना पड़ता है। कुछ ऊंचा सामान लेकर निकलने में अधिक परेशानी हो रही है। यहां पर खुले तार होने से अधिकांश लोगों ने अपनी सुविधा के अनुसार ही बिजली के कनेक्शन लिए हैं।
अधिकांश लोगों ने खंभा से कनेक्शन नहीं लिया है।

मकान के सामने ही बिजली के खुले तार निकले हैं। जो ढीले होने के कारण अधिक नीचे आ गए हैं। जिससे घर के दरवाजे से कोई बड़ी वस्तु लेकर निकलने में करंट लगने का भय बना रहता है-रिजवान लारी

घर में छोटे-छोटे बच्चे हैं। जो अधिकतर मकान के दरवाजे के पास ही खेलते रहते हैं। ऐसे में जर्जर हालत में डले तारों के गिरने का भय बना रहता है। तारों को बदलवाया जाए, जिससे दुर्घटना होने से बचा जा सके- संगीता

रास्ते से निकले बिजली के तारों की स्थिति काफी खराब है। तार कई स्थानों पर जुड़े हैं। हवा के चलने पर इनके टूटकर गिरने की संभावना अधिक है, जिससे बचने के लिए बंच केबिल डाली जाए- शमशुल होदा

रिपोर्ट:- विश्वेंद्र प्रताप यादव ब्यूरो चीफ देवरिया